कैसे बने एलोन मस्क दुनियां के सबसे अमीर इंसान जाने उनके successfull होने का परिश्रम ||

कैसे बने एलोन मस्क दुनियां के सबसे अमीर इंसान | elon musk duniya ke sbse amir insan kaise bane.

2020 तक जिस इंसान का नाम दुनियां के सबसे अमीर लोगो की list मे दूर दूर तक नहीं था, 2021 की शुरुआत मे ही उनका नाम दुनियां के सबसे अमीर लोगो की list मे सबसे top पर आजाता है. जी हाँ हम बात कर रहे है – the great विजिनरी मैन, “एलोन मस्क” की.

यह एक ऐसे इंसान है जो एक बार किसी काम को या creativity को  सोच लेते! तो उसे सच करके ही दम लेते | बस इस इंसान को कुछ सोचने की देर होती थी इधर इस इंसान ने सोचा नहीं की उधर उस काम को सच कर दिखाने के लिए पूरी जी जान लगा देते है | क्यो की इस इंसान के मन मे एक ही बात बैठी है – वो ये की “असंभव’ कुछ भी नहीं |

ऐसी और भी तमाम qualities इनके अंदर वो तमाम qualities मौजूद है जिसके चलते ये आज दुनियां के सबसे अमीर व्यक्तियों मे पहले नंबर पर गिने जाते है.

तो  अब हम आपको, इनके जीवन की उन खास बातो और परिस्थितियों से अवगत करवाएंगे जिससे आप ये आसानी से समझ जाओगे की कैसे alon मस्क दुनियां के सबसे अमीर इंसान बन गए? तो बने रहिये article के आखिर तक बिना स्किप किये

 

एलोन मस्क की पूरी कहानी, 

Elon Musk  का जन्म  आज से 51 साल पहले  साउथ अफ्रीका के प्रेटोरिया  शहर मे 28 जून 1971 को हुआ | Elon Musk  के पिता जी एक एंजनियार होने के साथ साथ एक पाइलट भी थे|

 

एक वक़्त ऐसा आया की, परिवारिक विवाद के चलते माता पिता एक दूसरे से अलग हों गए, जिस वजह से इन्हे अपने पिता के पास रहना पड़ा|

इन्हे एकांत रहकर किताबें पढ़ना बहुत पसंद था, किताबें पढ़ने का शौक इतना ज़ादा था की, कम उम्र मे साल भर मे ही स्कूल की पूरी लाइब्रेरी की किताबें पढ़ डाली.

जिस वजह से बचपन से ही खूब सारी किताबें पढ़ कर उनसे ज्ञान अर्जित करते रहने की  दिलचस्पी इनकी आदतों मे शामिल हों गई. और यही चीज इनके life की सबसे पहली और सबसे बड़ी खासियत मे से एक रही है.

👉इसके बाद सीखने की ललक और फोकस level इनकी दूसरी खूबियां थी, कहा जाता है की इनका फोकस level इतना ज़ादा था की किताबें पढ़ते वक़्त इन्हे किसी की आवाज़ तक, डिस्टर्व नहीं कर पाती थी,

उम्र के साथ साथ इनकी, नई नई चीजों के बारे जानने और सीखने की जिज्ञासा तीव्र होती गई,

 

👉वहीं,सीखने की ललक के चलते 10 साल की उम्र मे कप्यूटर सीखना शुरू किया और ख़ुद ही किताबों के ज्ञान से प्रोग्रामिंग सीख कर कॉडिंग करनी भी सीख ली जिससे 12 साल की उम्र मे आकर इनकी creativity इस कदर थी की इन्होने computer पर वीडियो गेम बना डाली.

 

👉जिसे इन्होने 500 डॉलर के अंदर एक कम्पनी को सेल भी कर दी.

यह इनके जीवन की सबसे पहली कमाई थी. यही से इनका आत्मविश्वास कई गुना बढा.और इन्होने समझा की गर कामयाबी मिलती है तो पैसा अपने आप आता है. 

 

👉आगे बढ़ती उम्र के साथ साथ,तरह तरह की किताबे पढ़ते हुए Elon Musk ने डिसाइड कर लिया था की वह कुछ ऐसा बिज़नस करेंगे जो मानवता हित के लिए परोपकारी साबित हो | और यहीं से उन्होंने अद्भुत विजन देखने शुरू किये और विचार करना शुरू किया की उन्हें कैसे पूरा करना है.

👉एलोन मस्क के आत्मविश्वास से इनके अंदर एक और एबिलिटी ने जन्म लिया जिसका नाम था रिस्क and इन्वेस्टमेंट. 

इसी एबिलिटी की मदद से इन्होने रिस्क management सीखा और इन्वेस्टमेंट की पावर को समझा.

👉यही से एलोन मस्क ने मानव कल्याण के लिये बड़े बड़े project पर काम करना शुरू किया और उन पर पानी की तरह ऐसे बहाए, यानी जो कमाते थे उसका ज़ादातर हिस्सा अपने project को सफल करने मे लगा देते.

 

👉अगस्त 1995 मे  Elon Musk  ने अपने भाई के साथ JIP2  नाम की एक software company शुरू की | जिसे आगे चलकर कोमपेक नाम की दिग्गज कंपनी ने 307 मिलियन डॉलर  देकर खरीद ली |

धरती पर तेजी से बढ़ते पोलुशन, ग्लोबल वार्मिंग, पॉपुलैशन और बेरोजगारी को देखते इन्होने अन्देशा लगा लिया की भविष्य मे धरती बचेगी ही नहीं 

यही से इन्होने अपने विजिनरी माइंड का उपयोग किया और ठान लिया की धरती के लोगो को मंगल पर लें कर जाऊंगा और वहाँ इंसानों की नई खुशहाल दुनियां बसाउँगा.

जिसके चलते 👉 2002 मे एलोन मस्क ने स्पेस X नाम की कम्पनी ख़डी की. अंतरिक्ष मे ख़ुद की कम्पनी द्वारा रॉकेट छोड़ने को लेकर यह दुनियां की पहली निजी कम्पनी है.

 

ऐसा नहीं की एलोन मस्क ने असफलताओं का सामना नहीं किया. 

एलोन मस्क ने  दो लोगो के साथ मिलकर टेस्ला (tesla) नाम की कंपनी की शुरुआत भी की |

spacex ने 2006 मे अपना पहला रॉकेट लॉन्च किया. लॉन्च के 41 सेकंड बाद वो रॉकेट ब्लास्ट हो गया.

इसके बाद फिर से खूब पैसा इन्वेस्ट करके दूसरा रॉकेट बनाया और लॉन्च किया इस बार रॉकेट अंतरिक्ष तक तो गया लेकिन ऑर्बिट तक नहीं जा पाया.

इसके बाद फिर से तीसरा  रॉकेट तैयार किया और लॉन्च किया यह  रॉकेट तो स्पेस मे जाते ही off रुट हो गया.

एक तो रॉकेट के  लगातार फेलियर ऊपर से इतने रॉकेट्स को बनाने तथ्य लॉन्च करने मे इतना पैसा खर्च चुके थे की spacex कंपनी अब दिवालिया होने की कगार पर पहुँच चूकी थी.

इधर पैसे की शॉर्टेज के चलते टेस्ला कंपनी मे लगातार फंडिंग नहीं हो पा रही थी जिसके चलते अपने अगले इलेक्ट्रिक विहिकल्स पर काम कर रही टेस्ला कंपनी  भी ठप हो गई और सारा काम रुक गया.

इस बार एलोन ने सोचा अब एक आख़री दांव जो होगा देखा जाएगा. बस फिर क्या था अपनी बची बुचि जो भी सम्पति थी सब कुछ दांव पर लगा कर चौथा रॉकेट तैयार किया. यकीन नहीं कर पाओगे यह मिशन saccess फुल रहा.

इधर मिशन सफल हुआ नहीं की उधर नासा से डेढ़ बिलियन डॉलर के  प्रोजेक्ट  का कॉन्ट्रेक्ट भी दे दिया.

वहीं दूसरी तरफ टेस्ला मोटर्स ने तेजी से काम खींचा और देखते ही देखते टेस्ला कम्पनी के शेयर आसमान छूने लगे.

हम आपको बता दे alon musk की टेस्ला कम्पनी दुनियां की सबसे बड़ी कार मेन्युफैक्चरिंग कम्पनी कहलाई जाती है.

और इस तरह 2021 आते आते alon musk दुनियां के सबसे अमीर इंसान बन गए.

एलोन musk की अभी के समय मे कुल सम्पत्ति 75 बिलियन $ डॉलर यानी 5 अरभ 72 करोड़ रुपए के आस पास बताई जाती है.

एलोन मस्क से पहले दुनियां के सबसे अमीर व्यक्ति का ख़िताब Amazon ke संस्थापक जेफ बेजोज़ के नाम था.

इन्हे जीवन मे इतनी असफलताए भी मिली है , की गर कोई साधारण विचारों वाला व्यक्ति होता तो वो तो कब का लक्ष्य को पाने का विचार भू मन से निकाल चुका होता, लेकिन इनकी खासियत ये थी की ये आत्मविश्वासी और सकारात्मक विचारों वाले व्यक्ति है 

👉इन्हे अपनी knowledge और एबिलिटी पर पूरा भरोसा है , जिस वजह से ये तमाम  फेलियर के बाद भी हार नहीं मानते है, बल्कि उनसे सीख लेकर दोबारा प्रयास करते है और तक नहीं रुकते है ज़ब तक उन्हें सफलता प्राप्त ना हों जाए.

 

बस इन्ही तमाम खासियत,और एबिलिटीज की वजह से ये आज ना सिर्फ दुनियां के सबसे अमीर व्यक्तियों मे गिने जाते है बल्कि फोब्स के अनुसार आज Elon Musk  21 सबसे प्रभाव शाली व्यक्तियों मे से एक हैं |

Please Share Via ....

Related Posts

One thought on “कैसे बने एलोन मस्क दुनियां के सबसे अमीर इंसान जाने उनके successfull होने का परिश्रम ||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *