हरियाणा का गुरुग्राम जिले के बारे में सम्पूर्ण जानकारी :-15

HARYANA DARSHAN

गुरुग्राम हरियाणा राज्य का एक जिला है जो कि भारत की राजधानी दिल्ली के दक्षिण-पश्चिम दिशा में स्थित है। एक जिले के रूप में गुरुग्राम जिले की स्थापना हरियाणा के गठन के समय 1 नवम्बर, 1966 को की गई थी। इस पोस्ट में हम गुरुग्राम जिले के बारे में सम्पूर्ण जानकारीGurugram District GK के बारे में विस्तार से जानेंगे|

जिला गुरुग्राम

  • गुरुग्राम जिले का गठन 1 नवंबर, 1966 को हरियाणा राज्य के गठन किस समय ही किया गया था। 
  • गुरुग्राम भारत की राजधानी दिल्ली से 30 किलोमीटर दूर दिल्ली-जयपुर मार्ग पर स्थित है।
  • गुरुग्राम जिले का क्षेत्रफल 1258 वर्ग किमी है। 
  • गुरुग्राम जिला दिल्ली NCR के अंतर्गत आता है।
  • गुरुग्राम जिले का प्रति व्यक्ति आय में संपूर्ण भारत में चंडीगढ और मुंबई के बाद तीसरा स्थान है। 
  • गुरुग्राम ने औद्योगिक मामले में कुछ ही समय में जबरदस्त प्रगति की है, इसलिए इस जिले को आई टी सेक्टर का हब भी कहा जाता है।

गुरुग्राम जिले में उप-मंडल, तहसील, उप-तहसील, खंड

उप-मंडल – गुरुग्राम जिले में 4 उप-मंडल (Sub-division) हैं। 

  • गुरुग्राम 
  • सोहना 
  • बादशाहपुर 
  • पटौधी

तहसील – गुरुग्राम जिले में 5 तहसील (Tehsil) हैं। 

  • गुरुग्राम 
  • सोहना 
  • पटौधी 
  • फर्रुख नगर 
  • मानेसर 

उप-तहसील – गुरुग्राम जिले में 4 उप-तहसील (Sub-Tehsil) हैं। 

  • वजीराबाद 
  • बादशाहपुर 
  • सोहना 
  • पटौधी

खंड – गुरुग्राम जिले में 4 खंड (Block) हैं। 

  • गुरुग्राम 
  • सोहना 
  • पटौधी 
  • फर्रुख नगर 

पंचायती राज संस्थान: 3 स्तरीय सेटअप

विषयविवरण
कुल गांव221
ग्राम स्तरपंचायत
ब्लॉक स्तरपंचायत समिति
जिला स्तरजिला परिषद

प्रशासनिक संरचना

खंडदिसंबर 2015 तक पंचायतों की संख्या
कुल203
गुड़गांव32
सोहना45
पटौदी75
फर्रुखनगर51

प्राचीन नाम/उपनाम

  • सपनो की नगरी, मनोरंजन हब, साईबर सिटी, मिलेनियर सिटी, मेडी सिटी, इलेक्ट्रानिक सिटी, उत्तर भारत का काॅल सेंटर ऑफ कैपिटल, भारत की माल सिटी, उद्योग विहार।
  • 13 अप्रैल, 2016 को गुड़गाव से नाम बदलकर गुरुग्राम रखा गया था।
  • पांडवों के ज्येष्ठ पुत्र युधिष्ठर ने यह गाँव अपने गुरु द्रोणाचार्य को गुरु दक्षिणा के रूप में भेट किया था। इस गाँव का पुराना नाम गुड़गाँव मसानी था, क्योंकि यहाँ पर माता मसानी (चेचक की देवी शीतला माता) का मंदिर स्थित है। गुरु द्रोणाचार्य की पत्नी का नाम शीतला माता था।
  • 1857 के समय यहाँ तीन रियासतें तथा 11 परगने थे। जिले का पहला डीसी केवन्डिस बना था, जिसे लोग घमंडी साहब कह कर पुकारते थे।

गुरुग्राम जिले में स्थित क़िले व मस्जिद

  • सोहना का किला – सोहना का किला भरतपुर के राजा जवाहर सिंह ने 18 वीं शताब्दी में बनवाया था। सोहना में गर्म पानी का चश्मा है, इस पानी में सल्फर/गंधक की अधिकता है जिस वजह से यह पानी गर्म रहता है और इस पानी में नहाने से सभी चर्म रोग दूर हो जाते है।
  • गोपालगिरी का दुर्ग/किला – गोपालगिरी का किला गुरुग्राम में है और इसे बलबन ने 13वीं शताब्दी में बनवाया था। बलबन गुलाम वंश का शासक था।
  • सराय अलवर्दी की मस्जिद – यह मस्जिद अलाउद्दीन खिलजी के समय की है और गुरुग्राम में है। अलाउद्दीन खिलजी का शासन काल 1296 से 1316 ई. तक रहा है।
  • शीश महल – गुरुग्राम में स्थित शीश महल लाल किले की हुबहू नकल है। इसका निर्माण फौजदार खां ने करवाया था।

शीतला माता मंदिर

  • गुरुग्राम में गुरु द्रोणाचार्य की पत्नी और चेचक देवी शीतला माता का मंदिर स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 1650 ई0 में राजा जोहरसिंह ने करवाया था। यह मंदिर राजस्थानी वास्तु कला में है। हरियाणा सरकार द्वारा श्री माता शीतला देवी पूजा स्थल बोर्ड का गठन 1991 में किया गया था। इस बोर्ड में 11 सदस्य होते है। हरियाणा के मुख्यमंत्री इसके अध्यक्ष तथा जिला उपायुक्त इस बोर्ड का सदस्य एवं मुख्य प्रशासक होता है।

पुलिस कमिश्नरी

  • हरियाणा में गुरुग्राम ऐसा पहला जिला है, जहाँ पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम लागू किया है। इसके अंतर्गत पुलिस महानिरीक्षक रैंक के अधिकारी को पुलिस आयुक्त नियुक्त किया गया है, जिसके अधीन भारतीय पुलिस सेवा के छह पुलिस आयुक्त कार्यरत है।

उद्योग

मारुती सुजुकी भारत की सबसे बड़ी कार कंपनी है । गुरुग्राम का ऑटोमोबाइल उद्योग यात्री कारो , मोटरसाइकिल , स्कूटर और इसके घटको का निर्माण करते है ।

गुरुग्राम-मानेसर-बवाल बेल्ट देश के ऑटो हब के रूप में उभरा है जो उद्यमियों के पर्याप्त अफसर प्रदान करता है ।

यहां कई प्रमुख और प्रतिष्ठित इकाइयां है जो दूर संचार के उपकरणों, बिजली के सामान, खेल के सामान, रबर के उत्पादों , तैयार वस्त्र और सॉफ्टवेर विकास में योगदान दे रही है ।

अन्य उद्योगों में हलके इंजीनियरिंग सामान , फ़र्मिसिटुक्लेस, एग्रो आधारित और खाद्य प्रसंस्करण, चमड़े , एयर कंडीशनर, जूते , कीटनाशकों आदि शामिल है । इन क्षेत्रों में मुख्य उद्योगों में कोसको, एनके रबर, पेफेरिटी, हल्दीराम, हफकल, मार्टिन हरिस, टेरी, रैनबैक्सी लैबोरेट्रीज इत्यादि शामिल है ।

इसके तेज़ी के विकास के साथ , गुरुग्राम हरियाणा में एक महत्वपूर्ण रूप से उभरा और ज़िले की उपलब्धधियों ने राज्य के गौरव को बढ़ावा दिया है ।

गुरुग्राम जिले की प्रमुख झीलें

  • दमदमा झील – यह झील हरियाणा की सबसे बड़ी झील है। दमदमा झील गुरुग्राम के दक्षिण में सोहना से 8 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। इस झील का निर्माण वर्ष 1919 में करव्या गया था। 
  • खलीलपुर झील – खलीलपुर झील पटौधी (गुरुग्राम) में स्थित है। इस झील को पानी वर्षा से प्राप्त होता है।
  • सोहना झील – सोहना झील, सोहना (गुरुग्राम) में स्थित एक गर्म पानी का चश्मा है, जिसमें नहाने से कई चर्म रोग दूर होते हैं। 
  • सुल्तानपुर झील – सुल्तानपुर झील गुरुग्राम-फर्रूखनगर मार्ग पर गुरुग्राम से 15 किलोमीटर दूर सुल्तानपुर में स्थित है। यहाँ पर एक पक्षी विहार भी है जिसमें विभिन्न पक्षियों की करीबन 250 प्रजातियाँ पाई जाती है।

सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान

  • गुडगांव जिला में ही राजधानी दिल्ली से लगभग 46 किलोमीटर दूर गुडगांव फरूखनगर मार्ग पर हरियाणा का सुरम्य सुलतानपुर राष्ट्रीय पक्षी विहार स्थल है। इस पक्षी विहार की खोज का श्रेय पीटर जैक्सन नामक एक पक्षी प्रेमी को जाता है।यहां एक प्राचीन झील भी है। लगभग 265 एकड भूमि में फैली इस विशाल प्राकृतिक झील में हर वर्ष लगभग एक सौ प्रजाततियों के पक्षी यूरोप तथा साइबेरिया के देशों से प्रजनन के लिए आते हैं इस दौरान यहां काफी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक भी आते है।

गर्म जल का चश्मा

  • यह सोहना, गुरुग्राम जिले का विश्वविख्यात स्थान सोहना अपने गर्म जल स्त्रोतों के कारण अपनी पहचान दूर-दूर तक कायम कर चुका है। गंधक की अधिकता के कारण इसका पानी गर्म रहता है। यह मान्यता है कि इसके पानी से स्नान करने से चर्म रोग ठीक होता है

गुरुग्राम जिले में स्थित पार्क

  • स्वर्ण एवं आभूषण पार्क – यह गढ़ी हसरूर (गुरुग्राम) में है।
  • बायोटैक पार्क 
  • सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क
  • हाईटेक पार्क

प्रमुख विश्वविद्यालय

  • सैनिक विश्वविद्यालय – इस विश्वविद्यालय की स्थापना सन् 2010 में गुरुग्राम के बिनोला गाँव में की गई। इसका उद्धघाटन 23 अप्रैल, सन 2013 को हुआ और रक्षा मंत्रालय के सहयोग से यह विश्वविद्यालय स्थापित किया गया है।
  • आईटीएम विश्वविद्यालय – 1996
  • अमिटी विश्वविद्यालय – 2010
  • जी.डी. गोयन का विश्वविद्यालय – 2013
  • ए. पी. जे. सत्य विश्वविद्यालय
  • राष्ट्रीय मस्तिष्क अनुसंधान केंद्र की स्थापना 1997 में गुरुग्राम के मानेसर में की गई।
  • हरि मंदिर संस्कृत विश्वविद्यालय
  • देश का प्रथम रक्षा विश्वविद्यालय – बिनौला, गुरुग्राम

प्रमुख खनिज

  • कांच, बालू, गुरुग्राम का प्रमुख खनिज है।
  • चीनी मिट्टी – सिकंदरपुर
  • कार्टर – बदरपुर

अन्य महत्वपूर्ण

  • गुरुग्राम स्थित किंगडम ऑफ ड्रीम्स भारत का पहला लाइव मनोरंजन थिएटर एवं अवकाश स्थल है।
  • दिल्ली – गुरुग्राम एक्सप्रेस वे की स्थापना 30 जनवरी, 2008 में हुई
  • 2 फरवरी, 2018 को मानेसर को दूसरा पुलिस जिला घोषित किया गया। (पहला – हांसी)
  • मानेसर को ऑटोहब के नाम से भी जाना जाता है।
  • राहगीर – डे 22 दिसंबर को मनाया जाता है।
  • हरियाणा सरकार अपने खुद के खर्चे पर गुरुग्राम को स्मार्ट सिटी बनाएगी।
  • गुरुग्राम साॅफ्टवेयर निर्यात में तीसरे स्थान पर है – चेन्नई, बैंगलोर, गुरुग्राम।
  • लेसर वैली, सहारा वैली व डी. एल. एफ. यह सभी गुरुग्राम में ही स्थित है।
  • ताऊ देवी लाल स्टेडियम भी गुरुग्राम में स्थित है।
  • मिशन टी. बी. फ्री हरियाणा की शुरूआत गुरुग्राम से मनोहर लाल खट्टर ने की जिसके ब्रांड एंबेसडर अमिताभ बच्चन बनाए गए मेदांत हाॅस्पिटल इसमें सहयोगी रहा है।
  • हरियाणा का पहला खाद्य बैंक- गुरुग्राम में 10 नवंबर, 2013 को स्थापित हुआ।
  • हरियाणा लोक प्रशासन संस्थान गुरुग्राम में स्थित है।
  • ज्योतिष मार्तंड समाचार पत्र का प्रकाशन 1925 में गुरुग्राम में शुरू हुआ।
  • अंतर्राष्ट्रीय सौर ऊर्जा का मुख्यालय – गुरुग्राम
  • साइबर क्राइम ब्रांच का प्रथम थाना गुरुग्राम में खोला गया है।
  • DLF का मुख्यालय – गुरुग्राम
  • अभिनेता राजकुमार राव का संबंध है – गुरुग्राम
  • राष्ट्रीय उद्यान बोर्ड गुरुग्राम में स्थित है।
  • अजीत बजाज और दीया बजाज पिता पुत्री की जोड़ी ने माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की। इनका संबंध गुरुग्राम से है।
  • मानेसर – NSG कमांडो ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना 1984-85 में की गई।
  • महानगरीय प्राधिकरण बोर्ड – अगस्त 2007
  • इफितयार अली खान पटौदी – हाॅकी खिलाड़ी
  • 1 st digitial sign language lab – गुरुग्राम (मूक बधिरों के लिए)
  • कार विंटेज रैली – गुरुग्राम (यह पुराने कारो की रैली है)

गुरुग्राम जिले का इतिहास 

Gurugram District GK : प्राचीन हिंदू पौराणिक कथाओं में गुरुग्राम का ज़िक्र एक अत्यंत महत्वपूर्ण नगर के रूप में मिलता है। गुरुग्राम जिले का नाम हिंदू ग्रंथों में भी पाया गया है। ऐसा कहा जाता है कि यह गुरु द्रोणाचार्य का गांव होता था यहीं पर गुरु द्रोणाचार्य ने कौरवों व पांडवों को शिक्षा प्रदान की थी। 

गुरुग्राम शब्द दो शब्दों से मिल कर बना है – गुरु और ग्राम अर्थात गुरु का ग्राम। यहां पर गुरु शब्द गुरु द्रोणाचार्य से संबंधित है यानि गुरुग्राम का मतलब बना गुरु द्रोणाचार्य का गाँव।

महाभारत युग के समय में युधिष्ठिर ने गुरुग्राम को अपने गुरु द्रोणाचार्य को उपहार स्वरूप दिया था। महाभारत के काल में दर्शाया गया कुंआ जिसके अंदर कौरवों व पांडवों की गेंद चली गई थी, वर्तमान में गुरुग्राम जिले के गुरु द्रोणाचार्य कॉलेज में विद्यमान है।

गुरुग्राम जिले का नाम प्राचीन काल में गुरुग्राम ही हुआ करता था जो कुछ समय पश्चात गुरुग्राम से गुड़गांव हो गया और 13 अप्रैल, 2016 को तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने फिर से इस जिले का नाम फिर से गुड़गांव से बदल कर गुरुग्राम कर दिया।

Please Share Via ....

Related Posts