GST ( Goods and Services Tax ) क्या हैं और यह किस प्रकार काम करता है जानिए सारी जानकारी ||

गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स अप्रत्यक्ष कर की श्रेणी में आएगा। जीएसटी वह वैट है जिसमे वस्तुओं और सेवाओं दोनों पर ही लागू किया जाएगा। वर्तमान में वैट केवल वस्तुओं पर ही लागू होता है। जीएसटी लागू होने के बाद सेल्स टैक्स, सर्विस टैक्स, एक्साइज ड्यूटी, वैट आदि तमाम तरह के टैक्स हटा दिए जाएंगे। इससे पूरा देश एकीकृत बाजार में बदल जाएगा।

लोकसभा द्वारा 8 अगस्त 2016 को संविधान के 122वें (जीएसटी) संशोधन विधेयक-2014 को सर्वसम्मति से पारित किया गया। विधेयक दो तिहाई बहुमत द्वारा 443 सदस्यों के मतों द्वारा पारित हुआ।

इससे पहले वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संशोधन विधेयक 3 अगस्त 2016 को राज्यसभा में पारित किया गया था।

विधयेक पारित होने के लिए दो तिहाई मतों की आवश्यकता के स्थान पर सभी 197 सांसदों ने पक्ष में वोट डाला।

विधेयक के प्रावधान

  • भारत के संघीय ढांचे को ध्यान में रखते हुए जीएसटी के दो घटक होंगे- केन्द्रीय जीएसटी एवं राज्य जीएसटी। इसके अंतर्गत राज्य एवं केंद्र को अपने-अपने जीएसटी विधेयक लाने होंगे।
  • वस्तुओं एवं सेवाओं के लिए अथवा उनके आयात के लिए, केंद्र एक अन्य एकीकृत जीएसटी पर विचार कर रही है।
  • एल्कोहल को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है।
  • इससे केंद्र अंतर-राज्य आपूर्ति के लिए दो वर्ष अथवा अधिक समय के लिए एक प्रतिशत अतिरिक्त कर लगा सकता है। यह कर आपूर्ति के स्रोत राज्यों से वसूला जायेगा।
  • प्रारंभिक अवस्था में जीएसटी पेट्रोलियम क्रूड, हाई स्पीड डीज़ल, मोटर स्पिरिट (पेट्रोल), प्राकृतिक गैस एवं हवाई टरबाइन ईंधन में पर लागू नहीं होगा।
  • तम्बाकू एवं तम्बाकू उत्पाद जीएसटी के दायरे में आयेंगे। केंद्र सरकार तम्बाकू पर उत्पाद शुल्क भी लगाएगी।
  • संसद द्वारा पहले पांच वर्षों तक राज्यों को जीएसटी से होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान करने के लिए मुआवजा राशि दी जाएगी।
  • इसके लागू हो जाने के बाद निम्न प्रकार के करों की समाप्ति हो जाएगी-

केंद्रीय कर-

  1. सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी
  2. एडीशनल एक्साइज ड्यूटी
  3. स्पेशल एडीशनल ड्यूट ऑफ कस्टम्म्स
  4. मेडिसिनल एंड टॉयलेट प्रिपरेशंस (एक्साइज ड्यूटी) एक्ट 1955 के तहत एक्साइज ड्यूटी
  5. सर्विस टैक्स
  6. एडीशनल कस्टम्स ड्यूटी
  7. सेंट्रल सरचार्ज व सेस

राज्य कर-

  1. वैल्यू एडेड टैक्स (वैट)/ सेल्स टैक्स
  2. लॉटरीज, बेटिंग व गैम्बिलिंग पर कर
  3. एंटरटेनमेंट टैक्स
  4. सेंट्रल सेल्स टैक्स
  5. ऑक्ट्रॉय व एंट्री टैक्स
  6. परचेज टैक्स
  7. लग्जरी टैक्स
  8. स्टेट सेस व सरचार्ज

जीएसटी काउंसिल के चेयरमैन होंगे केंद्रीय वित्त मंत्री

  • केंद्र से अन्य सदस्यों में वित्त राज्य मंत्री
  • वाइस चेयरमैन होंगे किसी एक राज्य के वित्त मंत्री
  • सदस्य होंगे राज्यों के वित्त मंत्री

जीएसटी क्‍या है और यह किस प्रकार काम करता है

जीएसटी पूरे देश के लिए एक अप्रत्‍यक्ष कर है जो भारत को एकीकृत साझा बाजार बना देगा। जीएसटी विनिर्माता से लेकर उपभोक्‍ता तक वस्‍तुओं और सेवाओं की आपूर्ति पर एक एकल कर है। प्रत्‍येक चरण पर भुगतान किये गये इनपुट करों का लाभ मूल्‍य संवर्धन के बाद के चरण में उपलब्‍ध होगा जो प्रत्‍येक चरण में मूल्‍य संवर्धन पर जीएसटी को आवश्‍यक रूप से एक कर बना देता है। अंतिम उपभोक्‍ताओं को इस प्रकार आपूर्ति श्रृंखला में अंतिम डीलर द्वारा लगाया गया जीएसटी ही वहन करना होगा। इससे पिछले चरणों के सभी मुनाफे समाप्‍त हो जायेंगे।

जीएसटी से होने वाले लाभ

जीएसटी के लाभों को संक्षेप में इस प्रकार बताया जा सकता है-

व्‍यापार और उद्योग के लिए

  • आसान अनुपालन-एक मजबूत और व्‍यापक सूचना प्रौद्योगिकी प्रणाली भारत में जीएसटी व्‍यवस्‍था की नींव होगी इसलिए पंजीकरण, रिटर्न, भुगतान आदि जैसी सभी कर भुगतान सेवाएं करदाताओं को ऑनलाइन उपलब्‍ध होंगी, जिससे इसका अनुपालन बहुत सरल और पारदर्शी हो जायेगा।
  • कर दरों और संरचनाओं की एकरूपता- जीएसटी यह सुनिश्चित करेगा कि अप्रत्‍यक्ष कर दरें और ढांचे पूरे देश में एकसमान हैं। इससे निश्चिंतता में तो बढ़ोतरी होगी ही व्‍यापार करना भी आसान हो जाएगा। दूसरे शब्‍दों में जीएसटी देश में व्‍यापार के कामकाज को कर तटस्‍थ बना देगा फिर चाहे व्‍यापार करने की जगह का चुनाव कहीं भी जाये।
  • करों पर कराधान (कैसकेडिंग) की समाप्ति- मूल्‍य श्रृंखला और समस्‍त राज्‍यों की सीमाओं से बाहर टैक्‍स क्रेडिट की सुचारू प्रणाली से यह सुनिश्चित होगा कि करों पर कम से कम कराधान हों। इससे व्‍यापार करने में आने वाली छुपी हुई लागत कम होगी।
  • प्रतिस्‍पर्धा में सुधार व्‍यापार करने में लेन-देन लागत घटने से व्‍यापार और उद्योग के लिए प्रतिस्‍पर्धा में सुधार को बढ़ावा मिलेगा।
  • विनिर्माताओं और निर्यातकों को लाभ जीएसटी में केन्‍द्र और राज्‍यों के करों के शामिल होने और इनपुट वस्‍तुएं और सेवाएं पूर्ण और व्‍यापक रूप से समाहित होने और केन्‍द्रीय बिक्री कर चरणबद्ध रूप से बाहर हो जाने से स्‍थानीय रूप से निर्मित वस्‍तुओं और सेवाओं की लागत कम हो जाएगी। इससे भारतीय वस्‍तुओं और सेवाओं की अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में होने वाली प्रतिस्‍पर्धा में बढ़ोतरी होगी और भारतीय निर्यात को भी बढ़ावा मिलेगा। पूरे देश में कर दरों और प्रक्रियाओं की एकरूपता से अनुपालन लागत घटाने में लंबा रास्‍ता तय करना होगा। 
  • केन्‍द्र और राज्‍य सरकारों के लिए

    • सरल और आसान प्रशासन- केन्‍द्र और राज्‍य स्‍तर पर बहुआयामी अप्रत्‍यक्ष करों को जीएसटी लागू करके हटाया जा रहा है। मजबूत सूचना प्रौद्योगिकी प्रणाली पर आधारित जीएसटी केन्‍द्र और राज्‍यों द्वारा अभी तक लगाए गए सभी अन्‍य प्रत्‍यक्ष करों की तुलना में प्रशासनिक नजरिए से बहुत सरल और आसान होगा।
    • कदाचार पर बेहतर नियंत्रण मजबूत सूचना प्रौद्योगिकी बुनियादी ढांचे के कारण जीएसटी से बेहतर कर अनुपालन परिणाम प्राप्‍त होंगे। मूल्‍य संवर्धन की श्रृंखला में एक चरण से दूसरे चरण में इनपुट कर क्रेडिट कर सुगम हस्‍तांतरण जीएसटी के स्‍वरूप में एक अंत:निर्मित तंत्र है, जिससे व्‍यापारियों को कर अनुपालन में प्रोत्‍साहन दिया जाएगा।
    • अधिक राजस्‍व निपुणता जीएसटी से सरकार के कर राजस्‍व की वसूली लागत में कमी आने की उम्‍मीद है। इसलिए इससे उच्‍च राजस्‍व निपुणता को बढ़ावा मिलेगा। 

उपभोक्‍ताओं के लिए

  • वस्‍तुओं और सेवाओं के मूल्‍य के अनुपा‍ती एकल एवं पारदर्शी कर केन्‍द्र और राज्‍यों द्वारा लगाए गए बहुल अप्रत्‍यक्ष करों या मूल्‍य संवर्धन के प्रगामी चरणों में उपलब्‍ध गैर-इनपुट कर क्रेडिट के कारण आज देश में अनेक छिपे करों से अधिकांश वस्‍तुओं और सेवाओं की लागत पर प्रभाव पड़ता है। जीएसटी के अधीन विनिर्माता से लेकर उपभोक्‍ताओं तक केवल एक ही कर लगेगा, जिससे अंतिम उपभोक्‍ता पर लगने वाले करों में पारदर्शिता को बढ़ावा मिलेगा।
  • समग्र कर भार में राहत निपुणता बढ़ने और कदाचार पर रोक लगने के कारण अधिकांश उपभोक्‍ता वस्‍तुओं पर समग्र कर भार कम होगा, जिससे उपभोक्‍तओं को लाभ मिलेगा।

केन्‍द्र और राज्‍य स्‍तर पर जीएसटी में शामिल किए जाने कर 

केन्‍द्रीय स्‍तर निम्‍नलिखित करों को शामिल किया जा रहा है-

  1. केन्‍द्रीय उत्‍पाद शुल्‍क
  2. अतिरिक्त उत्पाद शुल्क,
  3. सेवा कर,
  4. अतिरिक्त सीमा शुल्क आमतौर पर जिसे काउंटरवेलिंग ड्यूटी के रूप में जाना जाता है, और
  5. सीमा शुल्क का विशेष अतिरिक्त शुल्क।

राज्य स्तर पर, निम्न करों को शामिल किया जा रहा है-

  1. राज्य मूल्‍य संवर्धन कर/ बिक्री कर
  2. मनोरंजन कर (स्थानीय निकायों द्वारा लागू करों को छोड़कर), केंद्रीय बिक्री कर (केंद्र द्वारा लागू और राज्‍य द्वारा वसूल किये जाने वाला)
  3. चुंगी और प्रवेश कर,
  4. खरीद कर,
  5. विलासिता कर, और
  6. लॉटरी, सट्टा और जुआ पर कर। 

जीएसटी से सम्बंधित प्रमुख कालक्रम व घटनाएं

देश में जीएसटी को 13 वर्ष लंबी यात्रा के बाद पेश किया जा रहा है, क्‍योंकि अप्रत्‍यक्ष करों पर गठित केलकर कार्यबल की रिपोर्ट में सर्वप्रथम इसके बारे में विचार-विमर्श किया गया था। भारत में जीएसटी की शुरूआत करने के प्रस्‍ताव पर प्रमुख मील के पत्‍थरों को दर्शाने वाला कालक्रम संक्षिप्‍त में इस प्रकार है –

  • 2003 में प्रत्‍यक्ष कर पर केलकर कार्यबल ने वैट सिद्धांत पर आधारित एक व्‍यापक वस्‍तु एवं सेवाकर (जीएसटी) का सुझाव दिया था।
  • सबसे पहले वित्‍त वर्ष 2006-07 के बजट भाषण में 01 अप्रैल 2010 से राष्‍ट्रीय स्‍तर पर वस्‍तुए एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने का प्रस्‍ताव किया गया था।
  • क्‍योंकि प्रस्‍ताव में न केवल केन्‍द्र द्वारा लगाए जाने वाले अप्रत्‍यक्ष करों बल्कि राज्‍य द्वारा लगाए जाने वाले करों में भी सुधार और पुनर्गठन करना शामिल है। इसलिए जीएसटी लागू करने का डिजाइन और रोडमैप तैयार करने की जिम्‍मेदारी राज्‍य वित्‍त मंत्रियों की अधिकार प्राप्‍त समिति को सौंपी गई थी।
  • भारत सरकार और राज्‍यों से प्राप्‍त सुझावों के आधार पर इस अधिकार प्राप्‍त समिति ने नवम्‍बर, 2009 में वस्‍तु एवं सेवा कर पर अपना पहला विचार-विमर्श पत्र (एफडीपी) जारी किया।
  • जीएसटी से संबंधित कार्य को आगे बढ़ाने के क्रम में केन्‍द्र के साथ-साथ राज्‍य सरकार के अधिकारियों को शामिल करके एक संयुक्‍त कार्य समूह का सितम्‍बर, 2009 में गठन किया गया था।
  • जीएसटी लागू करने में सक्षमता के लिए संविधान संशोधन करने के लिए संविधान (155वां संशोधन) विधेयक मार्च, 2011 में लोकसभा में पेश किया गया। निर्धारित प्रक्रिया के साथ विधेयक को जांच और रिपोर्ट के लिए संसद की स्‍थायी वित्‍त समिति के पास भेजा गया।
  • इस दौरान केन्‍द्रीय वित्‍त मंत्री और राज्‍य वित्‍त मंत्रियों की अधिकार प्राप्‍त समिति के मध्‍य 08 नवम्‍बर, 2012 को आयोजित बैठक में लिये गये निर्णय के अनुपालन में भारत सरकार, राज्‍य सरकारों के अधिकारियों और अधिकार प्राप्‍त समिति को शामिल करके जीएसटी स्‍वरूप पर समिति का गठन किया गया।
  • इस समिति ने जीएसटी स्‍वरूप और संविधान 115वां संशोधन विधेयक के बारे में विस्‍तृत विचार-विमर्श किया और जनवरी, 2013 में अपनी रिपोर्ट प्रस्‍तुत की। इस रिपोर्ट के आधार पर अधिकार प्राप्‍त समिति ने जनवरी, 2013 में भुवनेश्‍वर में आयोजित अपनी बैठक में संविधान संशोधन विधेयक में कुछ परिवर्तनों की सिफारिश की।
  • अधिकार प्राप्‍त समिति ने अपनी भुवनेश्‍वर में आयोजित बैठक में जीएसटी के विभिन्‍न पहलुओं पर विचार-विमर्श करने और अपनी रिपोर्ट देने के लिए अधिकारियों की तीन समितियों का निम्‍न प्रकार गठन करने का निर्णय लिया-

  1. आपूर्ति नियमों के स्‍थान और राजस्व तटस्थ दरों पर समिति;
  2. दोहरे नियंत्रण, सीमा और छूट पर समिति
  3. आयात पर आईजीएसटी और जीएसटी के लिए समिति
  • संसदीय स्‍थायी समिति ने अगस्‍त 2013 में अपनी रिपोर्ट लोकसभा में प्रस्‍तुत की। अधिकार प्राप्‍त समिति और संसदीय स्‍थायी समिति द्वारा की गई सिफारिशों की मंत्रालय ने विधायी विभाग के परामर्श में जांच की। अधिकार प्राप्‍त समिति को संसदीय स्‍थायी समिति द्वारा की गई अधिकाशं सिफारिशों को स्‍वीकार कर लिया गया और मसौदा संशोधन विधेयक को उचित रूप से संशोधित किया गयाऔर प्रारूप संशोधन विधेयक सही तरीके से संशोधित किया गया।
  • उपरोक्त परिवर्तनों सहित अंतिम प्रारूप संविधान संशोधन विधेयक सितंबर 2013 में अधिकार प्राप्त समिति के पास विचार के लिए भेजा गया।
  • राज्यों के वित्त मंत्रियों की अधिकार प्राप्त समिति (ईसी) ने नवंबर 2013 में शिलोंग में अपनी बैठक के बाद विधेयक पर कुछ सिफारिशें की। अधिकार प्राप्त समिति की कुछ सिफारिशें प्रारूप संविधान (115वां संशोधन) विधेयक में शामिल की गई। संशोधित प्रारूप मार्च 2014 में अधिकार प्राप्त समिति के विचार के लिए भेजा गया।
  • जीएसटी लागू करने के लिए लोकसभा में मार्च 2011 में 115वां संविधान (संशोधन) विधेयक लोकसभा में पेश किया गया। 15वीं लोकसभा भंग होने से यह विधेयक स्वतः समाप्त हो गया।
  • जून, 2014 में नई सरकार की स्वीकृति के बाद प्रारूप संविधान संशोधन विधेयक अधिकार प्राप्त समिति को भेजा गया।
  • विधेयक के विभिन्न पहलुओं पर उच्च अधिकार प्राप्त समिति के साथ बनी सहमति के आधार पर मंत्रिमंडल ने 17-12-2014 को देश में वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) लागू करने के लिए आवश्यक संविधान संशोधन के लिए विधेयक प्रस्तुत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। 19-12-2014 को विधेयक लोकसभा में पेश किया गया और सदन ने इसे 06-05-2015 को पारित कर दिया। फिर इसे राज्यसभा की प्रवर समिति को भेजा गया। समिति ने 22-07-2015 को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की।

भारत में जीएसटी का प्रशासनिक स्वरूप

भारत के संघीय ढांचे को ध्यान में रखते हुए जीएसटी के दो घटक होंगे- केन्द्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) और राज्य जीएसटी (एसजीएसटी)। केन्द्र और राज्य दोनों एक साथ मूल्य श्रृंखला पर वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) लगाएंगे। समानों की प्रत्येक सप्लाई और सेवाओं पर टैक्स लगाया जाएगा। केन्द्र, अपना केन्द्रीय वस्तु और सेवा कर (सीजीएसटी) लगाएंगा और कर संग्रह करेगा और राज्य, अपने राज्य के अंदर सभी कारोबार पर राज्य वस्तु और सेवा कर (एसजीएसटी) लगाएंगे। सीजीएसटी के इनपुट टैक्स क्रेडिट से हर चरण में आउटपुट पर सीजीएसटी देनदारी चुकाई जाएगी। इसी तरह इनपुट पर अदा किए गए एसजीएसटी से आउटपुट पर एसजीएसटी को अदा किया जा सकेगा। क्रेडिट के आड़े-तिरछे अतिरिक्त उपयोग की अनुमति नहीं दी जाएगी।


वस्तु और सेवाओं से संबंधित एक विशेष कारोबार पर एक साथ जीएसटी (सीजीएसटी) तथा राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) टैक्स

केन्द्रीय जीएसटी और राज्य जीएसटी एक साथ प्रत्येक वस्तु और सेवा सप्लाई कारोबार पर लगाया जाएगा, लेकिन उन वस्तुओं और सेवाओं को छोड़कर जो जीएसटी के दायरे से बाहर हैं और वैसे कारोबार को छोड़कर जो न्यूनतम सीमा से कम हो। दोनों टैक्स सामान कीमत या मूल्य पर लगेगा, जबकि राज्य के वैट में वस्तु के मूल्य पर केन्द्रयी उत्पाद शुल्क सहित टैक्स लगाया जाता है।

जीएसटी व्यवस्था के अंतर्गत वस्तु और सेवाओं के बीच क्रेडिट का आड़े-तिरछे अतिरिक्त उपयोग

वस्तु और सेवाओं के बीच क्रेडिट का आड़े-तिरछे अतिरिक्त उपयोग करने की अनुमति होगी। इसी तरह एसजीएसटी के मामले में क्रेडिट के आड़े-तिरछे अतिरिक्त उपयोग की सुविधा होगी, लेकिन आईजीएसटी मॉडल के अंतर्गत वस्तु और सेवा सप्लाई के अंतर-राज्य मामले को छोड़कर सीजीएसटी और एसजीएसटी के आड़े-तिरछे अतिरिक्त उपयोग की अनुमति नहीं होगी।

आईजीएसटी तरीके के संदर्भ में जीएसटी के अंतर्गत वस्तुओं और सेवाओं के अंतर-राज्य कारोबार पर टैक्स

केन्द्र अंतर-राज्य कारोबार के मामले में संविधान के अनुच्छेद 269ए (1) के अंतर्गत वस्तुओं और सेवाओं की अंतर-राज्य सभी सप्लाई पर एकीकृत वस्तु और सेवा कर (आईजीएसटी) लगाएगा और उसका संग्रह करेगा। आईजीएसटी लगभग सीजीएसटी प्लस एसजीएसटी के बराबर होगा। आईजीएसटी व्यवस्था इस तरह की गई है कि एक राज्य से दूसरे राज्य को इनपुट टैक्स क्रेडिट का प्रवाह अबाध रूप से हो। अंतर-राज्य विक्रेता अपनी खरीददारी पर आईजीएसटी, सीजीएसटी तथा एसजीएसटी क्रेडिट के समायोजन के बाद अपनी वस्तुओं की बिक्री पर केन्द्र सरकार को आईजीएसटी का भुगतान करेगा। निर्यातक राज्य आईजीएसटी भुगतान में प्रयुक्त एसजीएसटी का क्रेडिट केन्द्र को हस्तांतरित कर देगा। आयातक डीलर अपने राज्य में आउटपुट टैक्स दायित्व (दोनों सीजीएसटी और एसजीएसटी) पूरा करते हुए आईजीएसटी क्रेडिट का दावा करेगा। केन्द्र एसजीएसटी भुगतान में प्रयुक्त आईजीएसटी क्रेडिट आयातक राज्य को हस्तांतरित करेगा। जीएसटी एक गंतव्य आधारित टैक्स है इसलिए अंतिम उत्पाद पर सभी एसजीएसटी साधारतः उपभोक्ता राज्य को प्राप्त होगा।

जीएसटी लागू करने में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) का उपयोग

देश में जीएसटी लागू करने के लिए केन्द्र और राज्य सरकारों ने मिलकर वस्तु और सेवा कर नेटवर्क (जीएसटीएन) बनाया है। यह लाभ रहति गैर-सरकारी कंपनी के रूप में पंजीकृत है ताकि केन्द्र तथा राज्य सरकारों टैक्स देने वाले लोगों और अन्य हितधारकों के लिए साझा सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) अवसंरचना उपलब्ध कराई जा सके। जीएसटीएन का मुख्य उद्देश्य करदाताओं को मानक और एक समान इंटरफेस प्रदान करना है और केन्द्र तथा राज्य/केन्द्रशासित सरकारों के साथ अवसंरचना और सेवा साझा करना है।

जीएसटीएन साझा जीएसटी पोर्टल सहित व्यापक अत्याधुनिक आईटी अवसंरचना विकास का कार्य कर रही है। इससे पंजीकरण, रिटर्न तथा सभी करदाताओं को भुगतान और वैसे राज्यों के लिए बैंक एन्ड आईटी मॉड्यूल प्रदान करना है। इसमें रिटर्न प्रोसेसिंग, पंजीकरण, ऑडिट, एसेसमेंट, अपील शामिल हैं। जीएसटी के सफल प्रशासन के लिए सभी राज्य, लेखा-प्राधिकार, भारतीय रिजर्व बैंक तथा बैंक आईटी अवसंरचना तैयार कर रहे हैं।

कागज रूप में रिटर्न नहीं भरे जा सकेंगे। सभी टैक्स भुगतान ऑनलाइन होंगे। एक-दूसरे से नहीं मिलने वाले रिटर्न ऑटो-जेनरेट होंगे और मानवीय हस्तक्षेप की कोई आवश्यकता नहीं होगी। अधिकतर रिटर्न सेल्फ एसेस होंगे।

जीएसटी के अंतर्गत आयात पर टैक्स

आयात पर अभी लगने वाला अतिरिक्त उत्पाद शुल्क या सीवीडी और विशेष अतिरिक्त शुल्क या एसएडी जीएसटी में समाहित हो जाएंगे। संविधान के अनुच्छेद 269ए (1) की व्याख्या के अनुसार भारत के भू-भाग में सभी प्रकार के आयात पर आईजीएसटी लगेगा। वर्तमान व्यवस्था से विभिन्न आयातित वस्तु का उपभोग करने वाले राज्य आयातित वस्तुओं पर आईजीएसटी भुगतान में से अधिक हिस्सा प्राप्त करेंगे।

संविधान (122वां संशोधन) विधेयक 2014 की प्रमुख विशेषताएं

विधेयक की प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार हैं-

  1. वस्तु और सेवा कर विषय पर कानून बनाने के लिए संसद और राज्य विधायिकाओं को एक साथ शक्ति दी गई।
  2. केन्द्रीय उत्पाद शुल्क, अतिरिक्त उत्पाद शुल्क, सेवा कर, अतिरिक्त सीमा शुल्क जिसे सामान्य रूप से काउंटर वेलिंग ड्यूटी कहा जाता है तथा विशेष अतिरिक्त सीमा शुल्क जैसे विभिन्न केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर इसमें समाहित हो जाएगें।
  3. राज्य वैल्यू ऐडेट टैक्स/सैल्स टैक्स, मनोरंजन कर (स्थानीय निकायों द्वारा लगाए जाने वाले टैक्स से अलग), केन्द्रीय बिक्री कर (टैक्स केन्द्र लगाता है और संग्रह राज्य करते है), ऑक्टराय, इंट्री टैक्स, परचेज टैक्स, लग्जरी टैक्स तथा लॉटरी, सट्टे और जुए पर टैक्स।
  4. संविधान के विशेष महत्व की घोषित वस्तुओं की अवधारणा समाप्त।
  5. वस्तुओं और सेवाओं के अंतर-राज्य कारोबार पर एकीकृत वस्तु और सेवा कर लगाने का प्रावधान।
  6. मानवीय खपत के लिए नशीली शराब को छोड़कर सभी वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी लगाया जाएगा। पेट्रोलियम तथा पेट्रोलियम उत्पादों पर बाद की तिथि से जीएसटी लगाया जाएगा। यह तिथि वस्तु और सेवा कर परिषद की सिफारिश पर अधिसूचित की जाएगी।
  7. पांच वर्षों तक राज्यों को वस्तु और सेवा कर लागू करने में हुए राजस्व नुकसान के लिए मुआवजा।
  8. वस्तु और सेवा कर से संबंधित विषयों की जांच के लिए वस्तु और सेवा कर परिषद का गठन तथा टैक्स दरें, टैक्स, सेस तथा सम्मिलित अधिभार छूट सूची तथा न्यूनतम सीमा, मॉडल जीएसटी कानून आदि पर केन्द्र और राज्यों को सिफारिश। यह परिषद केन्द्रीय वित्त मंत्री की अध्यक्षता में कार्य करेगी और सभी राज्य सरकारें इसकी सदस्य होंगी।
  9. जीएसटी के अंतर्गत प्रस्तावित पंजीकरण प्रक्रिया की प्रमुख विशेषताएं

    जीएसटी के अंतर्गत प्रस्तावित पंजीकरण प्रक्रियाओं की महत्वपूर्ण विशेषताएं इस प्रकार है:

    1. वर्तमान डीलर- वर्तमान वैट/केन्द्रीय उत्पाद तथा सेवा कर देने वालों को जीएसटी के अंतर्गत पंजीकरण के लिए नया आवेदन नहीं कर पड़ेगा।
    2. नए डीलर- जीएसटी के अंतर्गत पंजीकरण के लिए केवल एक आवेदन ऑनलाइन भरा जाएगा।
    3. पंजीकरण संख्या पीएएन (पैन) आधारित होगी और केन्द्र और राज्य दोनों के काम आएगी।
    4. दोनों टैक्स अधिकारियों को एकीकृत आवेदन।.
    5. प्रत्येक डीलर को यूनिक आईडी जीएसटीआईएन दिया जाएगा।
    6. तीन दिनों के अंदर मानित स्वीकृति।
    7. केवल जोखिम वाले मामलों में पंजीकरण के बाद जांच।

    जीएसटी के अंतर्गत रिटर्न फाइल करने की प्रस्तावित प्रक्रिया की प्रमुख विशेषताएं

    जीएसटी के अंतर्गत रिटर्न फाइल करने की प्रस्तावित प्रक्रियाओं की प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार हैः

    1. केन्द्र और राज्य सरकार दोनों के लिए एक रिटर्न।
    2. रिटर्न दाखिल करने के लिएजीएसटी बिजनेस प्रोसेस में आठ फॉर्म दिए गए हैं। औसत करदाता सामान्यतः रिटर्न दाखिल करने में चार फॉर्म का इस्तेमाल करेंगे। ये हैं सप्लाई, खरीद, मासिक रिटर्न तथा वार्षिक रिटर्न फॉर्म।
    3. कम्पोजिशन योजना विकल्प वाले छोटे करदाताओं को तिमाही आधार पर रिटर्न दाखिल करना होगा।
    4. सभी रिटर्न ऑनलाईन भरे जाएगे और सभी करों का भुगतान ऑनलाईन होगा।

    जीएसटी के अंतर्गत प्रस्तावित भुगतान प्रक्रिया की प्रमुख विशेषताएं

    जीएसटी के अंतर्गत प्रस्तावित भुगतान प्रक्रिया की प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार हैः

    1. इलेक्ट्रोनिक भुगतान प्रक्रिया- किसी भी चरण में कागजी काम नहीं।
    2. चालान जेनरेशन- जीएसटीएन के लिए एकल इंटर फेस।
    3. भुगतान सहजता- ऑनलाइन बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड, एनईएफटी/आरटीजीएस से भुगतान किया जा सकता है। बैंकों में चेक/नकद भुगतान किया जा सकता है।
    4. ऑटो पोपुलेशन विशेषता के साथ साझा चालान
    5. एकल चालान का उपयोग और एकल भुगतान व्यवस्था।
    6. अधिकृत बैंकों का साझा सेट।
    7. लेखा कार्य के लिए साझा कोड।
Please Share Via ....

Related Posts

144 thoughts on “GST ( Goods and Services Tax ) क्या हैं और यह किस प्रकार काम करता है जानिए सारी जानकारी ||

  1. My spouse and i got so fortunate when Jordan managed to deal with his inquiry from the precious recommendations he grabbed through your blog. It is now and again perplexing just to be giving out guides that other folks may have been trying to sell. And now we realize we’ve got the writer to thank for that. All of the illustrations you have made, the simple website navigation, the relationships you help to foster – it is mostly astounding, and it is making our son and our family do think this article is thrilling, which is unbelievably vital. Many thanks for everything!

  2. Spot on with this write-up, I absolutely think this web site needs far more attention. I’ll probably be back again to read through more, thanks for the information!

  3. I like the valuable information you supply in your articles. I will bookmark your weblog and check again here frequently. I am quite certain I will be told a lot of new stuff right here! Good luck for the following!

  4. I blog frequently and I truly appreciate your content. This great article has really peaked my interest. I will book mark your site and keep checking for new information about once a week. I subscribed to your RSS feed as well.

  5. Hi, I do believe this is an excellent web site. I stumbledupon it 😉 I am going to return once again since I book marked it. Money and freedom is the best way to change, may you be rich and continue to help other people.

  6. I am really loving the theme/design of your site. Do you ever run into any web browser compatibility problems? A small number of my blog audience have complained about my website not operating correctly in Explorer but looks great in Opera. Do you have any suggestions to help fix this issue?

  7. Today, I went to the beachfront with my kids. I found a sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She put the shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear. She never wants to go back! LoL I know this is completely off topic but I had to tell someone!

  8. Jednak dopiero początkujący, istnieją w obawie przed pierwszą fazą, w której potrafią wziąć straty. Wynika to z faktu, iż nie znają oni ponad praw rządzących światem kasyn online. Jednak, właściciele kasyn znaleźli rozwiązanie, w form bonusów. Jakie są najlepsze bonusy kasynowe?. Prezesi Oddziału Goleniowskiego Stowarzyszenia Seniorów Lotnictwa Wojskowego Rzeczypospolitej Polskiej: goleniow.pl Copyright © 2022 Stowarzyszenie Przyjaciół Zdrowia – Wszelkie prawa zastrzeżone Kasyno zlokalizowane jest w luksusowym hotelu w centrum Krakowa. Choć kasyno jest niewielkich rozmiarów, zapewni ci rozrywkę na klasycznych grach: maszynach hazardowych, ruletce, czy grze w blackjacka, Polecamy! Kasyno należy do spółki Zjednoczone Przedsiębiorstwa Rozrywkowe.
    http://heungil.net/bbs/board.php?bo_table=free&wr_id=70434
    Bydgoszcz Projekt ustawy o zmianie niektórych ustaw w związku z zapewnieniem rozwoju rynku finansowego oraz ochrony inwestorów na tym rynku zakłada również usprawnienie nadzoru nad rynkiem finansowym. Wprowadza też rozwiązania usprawniające zasady realizowania inwestycji w ramach krajowego planu odbudowy (KPO) z wykorzystaniem funduszy inwestycyjnych zamkniętych aktywów niepublicznych. Eliminuje bariery dostępu do rynku finansowego i zwiększa poziom cyfryzacji w realizacji przez Komisję Nadzoru Finansowego obowiązków nadzorczych. Jednym z najważniejszych elementów udanego pobytu jest dobra kuchnia. Nasz luksusowy ,5* hotel w Beskidach, oferuje znakomitą kuchnię, a o podniebienie Gości dbają wyśmienici Szefowie Kuchni. Tworzą oni starannie skomponowane menu, na bazie świeżych produktów od lokalnych dostawców, oparte na daniach regionalnych oraz międzynarodowych.

  9. I blog quite often and I genuinely appreciate your content. This great article has really peaked my interest. I will book mark your site and keep checking for new information about once a week. I subscribed to your RSS feed as well.

  10. We are a group of volunteers and starting a new scheme in our community. Your site provided us with valuable information to work on. You have done an impressive job and our whole community will be grateful to you.

  11. Hey there, I think your blog might be having browser compatibility issues. When I look at your blog in Safari, it looks fine but when opening in Internet Explorer, it has some overlapping. I just wanted to give you a quick heads up! Other then that, very good blog!

  12. My partner and I absolutely love your blog and find many of your post’s to be what precisely I’m looking for. Would you offer guest writers to write content for you personally? I wouldn’t mind composing a post or elaborating on a few of the subjects you write regarding here. Again, awesome blog!

  13. Howdy! I could have sworn I’ve been to this blog before but after going through a few of the posts I realized it’s new to me. Nonetheless, I’m definitely happy I discovered it and I’ll be bookmarking it and checking back frequently!

  14. I have been surfing online more than three hours these days, yet I never found any interesting article like yours. It’s lovely value enough for me. In my opinion, if all site owners and bloggers made good content as you did, the internet will be much more useful than ever before.

  15. Howdy! Someone in my Myspace group shared this site with us so I came to take a look. I’m definitely enjoying the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my followers! Wonderful blog and terrific design and style.

  16. It’s a shame you don’t have a donate button! I’d most certainly donate to this brilliant blog! I suppose for now i’ll settle for book-marking and adding your RSS feed to my Google account. I look forward to brand new updates and will talk about this blog with my Facebook group. Chat soon!

  17. Hey there! Quick question that’s entirely off topic. Do you know how to make your site mobile friendly? My website looks weird when viewing from my iphone4. I’m trying to find a theme or plugin that might be able to fix this problem. If you have any suggestions, please share. Appreciate it!

  18. Do you have a spam issue on this site; I also am a blogger, and I was wanting to know your situation; many of us have created some nice methods and we are looking to swap methods with other folks, why not shoot me an e-mail if interested.

  19. Write more, thats all I have to say. Literally, it seems as though you relied on the video to make your point. You definitely know what youre talking about, why waste your intelligence on just posting videos to your site when you could be giving us something enlightening to read?

  20. A person necessarily lend a hand to make critically articles I might state.
    That is the first time I frequented your website page
    and so far? I surprised with the analysis you made to create this actual put
    up amazing. Fantastic process!

  21. Hi! Someone in my Myspace group shared this site with us so I came to give it a look. I’m definitely enjoying the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my followers! Fantastic blog and great style and design.

  22. We are a group of volunteers and starting a new scheme in our community. Your web site provided us with valuable information to work on. You have done an impressive job and our whole community will be grateful to you.

  23. The terms have changed, and your consent to the new terms is required. There are hundreds of online poker games out there. Whether you’re into classic online poker games with no frills, or more modern ones with bonus features, you’re sure to find something to suit your taste. A few important things to keep in mind when you’re playing online video poker for real money: always check the game’s RTP and the paytable. Now you can play poker on the go with the ACR Mobile Poker App — directly on your Android phone. Free video poker is fun, but nothing beats the thrill of winning cash when playing video poker games for real money. You can enjoy the best quality poker slots at our premium real money Canada casinos, while also taking advantage of bonuses to spice up your gameplay. Choose a Canadian casino site from our expert list above, or get your video poker journey started instantly by joining our #1 casino below:
    http://www.bs-electronics.com/g5/bbs/board.php?bo_table=free&wr_id=272637
    They can be regarded as a sort of “game within a game.” For instance, blackjack side bet payouts are completely different and separate from the main hand wager. They also have their own RTP rates, mechanics, and betting limits. However, it’s worth noting that the house edge of blackjack side bets is typically much higher than the main bet. That’s why players rarely consider them a good blackjack strategy. Here, you can find all of the hot Vegas table games that this city was built on. And our table odds have to be seen to be believed. From 10x odds on Craps to full pay 3-2 single and double deck Blackjack, and more, there’s a reason we’re the best gamble in Las Vegas. Different casino game providers will have different betting options available. Live casino blackjack side bets can also differ from the ones available in RNG games. From all the tables we’ve tried out, those from Evolution and Playtech provide the largest selection of side bets. Side bets work the same in low and high-limit blackjack, but the amount you need to bet to qualify might differ.

  24. I’d like to thank you for the efforts you have put in writing this website. I’m hoping to see the same high-grade blog posts from you in the future as well. In fact, your creative writing abilities has inspired me to get my own blog now 😉

  25. Thank you for any other magnificent article. Where else may anyone get that kind of information in such a perfect way of writing? I have a presentation next week, and I am at the look for such information.

  26. Awesome website you have here but I was wanting to know if you knew of any community forums that cover the same topics talked about in this article? I’d really love to be a part of group where I can get feed-back from other knowledgeable individuals that share the same interest. If you have any recommendations, please let me know. Kudos!

  27. My spouse and I absolutely love your blog and find a lot of your post’s to be just what I’m looking for. Do you offer guest writers to write content for you? I wouldn’t mind composing a post or elaborating on most of the subjects you write related to here. Again, awesome web site!

  28. Pretty great post. I simply stumbled upon your blog and wanted to mention that I have really enjoyed browsing your blog posts. In any case I’ll be subscribing for your feed and I hope you write again soon!

  29. What i do not realize is in reality how you are not really a lot more well-preferred than you
    might be now. You’re very intelligent. You recognize therefore considerably in the case of this subject, produced me personally imagine it from
    so many various angles. Its like men and women don’t seem to be interested except it is one thing to accomplish with
    Woman gaga! Your personal stuffs great. All the time care for it up!

  30. Hello there I am so glad I found your blog page, I really found you by mistake, while I was searching on Aol for something else, Nonetheless I am here now and would just like to say thanks a lot for a incredible post and a all round thrilling blog (I also love the theme/design), I dont have time to read through it all at the minute but I have saved it and also added in your RSS feeds, so when I have time I will be back to read a great deal more, Please do keep up the fantastic jo.

  31. Le tipologie previste sono: Demo Di Macchinette Da Gioco Online In Italia Giocare nei Casinò Online per soldi veri… Le slot machine gratis a disposizione su internet sono tantissime, grazie alla costante collaborazione tra le aziende che producono slot online e i casinò online sicuri e autorizzati in Italia . Alcune sono diventate popolari nel corso degli ultimi anni, altre rappresentano ormai delle icone nel panorama delle slot machine gratis . Scegli il tuo veicolo e gioca ad alcuni dei migliori giochi di macchine su internet. Potrai gareggiare fino al traguardo, provare a fare un parcheggio oppure giocare come un autista di autobus per il giorno. DimensioneCasino non è un operatore di gioco a distanza ma un sito di informazione dedicato ai giochi.Tutti i casinò online citati su DimensioneCasino hanno regolare licenza AAMS e sono concessionari autorizzati al gioco a distanza dall’Agenzia delle Dogane e dei Monopoli.
    http://bmdherb.com/bmdherb/bbs/board.php?bo_table=free&wr_id=204635
    Zákaz účasti na hazardní hře osobám mladším 18 let Renta na léto se vždycky hodí, vyhrajte ji! Celkově lze říci, že kurzy pro hazardní hry v kasinu jsou vynikající volbou pro ty. Kde se dá hrát živý blackjack, kteří chtějí zlepšit své dovednosti a zvýšit své šance na výhru. Naše online kasino je ideálním místem pro všechny, což znamená. Pokud hledáte kasino s vysokými výhrami, můžete si zahrát některou z těchto her a užít si skvělou atmosféru kasina. Rozdíly mezi evropskou a francouzskou ruletou. Kroky registrace v kasinu Powerplay jsou relativně jednoduché, většina živých kasin nabízí nativní a webové aplikace. Online herní zážitek by vás zkazil při výběru možností, Hacksaw nás vrací zpět k základům.

  32. This is very interesting, You are an excessively professional blogger. I have joined your feed and sit up for in search of more of your great post. Also, I have shared your web site in my social networks

  33. Ищете надежного подрядчика для устройства стяжки пола в Москве? Обратитесь к нам на сайт styazhka-pola24.ru! Мы предлагаем услуги по залитию стяжки пола любой сложности и площади, а также гарантируем высокое качество работ.

  34. hey there and thank you for your information I’ve definitely picked up anything new from right here. I did however expertise a few technical issues using this site, since I experienced to reload the site many times previous to I could get it to load properly. I had been wondering if your web hosting is OK? Not that I am complaining, but sluggish loading instances times will often affect your placement in google and can damage your high quality score if advertising and marketing with Adwords. Anyway I’m adding this RSS to my e-mail and can look out for a lot more of your respective intriguing content. Make sure you update this again soon.

  35. Today, I went to the beachfront with my kids.

    I found a sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She put the
    shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear.
    She never wants to go back! LoL I know this is entirely off
    topic but I had to tell someone!

  36. Ищете надежного подрядчика для механизированной штукатурки стен в Москве? Обратитесь к нам на сайт mehanizirovannaya-shtukaturka-moscow.ru! Мы предлагаем услуги по оштукатуриванию стен механизированным способом любой сложности и площади, а также гарантируем высокое качество работ.

  37. When I originally commented I seem to have clicked the -Notify me when new comments are added- checkbox and now each time a comment is added I get four emails with the same comment. Perhaps there is a means you can remove me from that service? Thanks!

  38. What’s Happening i’m new to this, I stumbled upon this I have found It positively helpful and it has helped me out loads. I hope to give a contribution & aid other users like its helped me. Good job.

  39. This is very interesting, You are a very skilled blogger. I have joined your feed and look forward to seeking more of your wonderful post. Also, I have shared your site in my social networks!

  40. I and also my guys appeared to be reading the good guides from your web page and all of the sudden developed an awful feeling I never thanked the blog owner for those strategies. Those boys happened to be very interested to read through them and have in effect actually been making the most of them. Thanks for turning out to be very kind as well as for deciding upon certain superior guides most people are really needing to discover. My very own sincere regret for not saying thanks to you sooner.

  41. Насладитесь простотой и динамикой Lucky Jet, где каждый полет может умножить вашу ставку. Войдите в игру через сайт 1win и пускайте удачу в небо!

  42. This design is wicked! You certainly know how to keep a reader entertained. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (well, almost…HaHa!) Wonderful job. I really enjoyed what you had to say, and more than that, how you presented it. Too cool!

  43. Howdy! I know this is kinda off topic but I’d figured I’d ask.
    Would you be interested in trading links or maybe guest writing a blog article or vice-versa?
    My site covers a lot of the same topics as yours and
    I feel we could greatly benefit from each other.

    If you are interested feel free to shoot me an e-mail.

    I look forward to hearing from you! Wonderful blog by
    the way!

  44. Have you ever thought about publishing an e-book or guest authoring on other sites? I have a blog based upon on the same information you discuss and would really like to have you share some stories/information. I know my visitors would value your work. If you are even remotely interested, feel free to send me an e mail.

  45. The majority of the games include video slots, practice roulette payouts players have the option of paying for some slot application or getting them for free. This is Wild shown as a wise looking ancient Chinese Emperor, but for the most part. If that doesn’t satisfy your craving, the factors above will affect your overall income the most. This is why when you receive bonus money, i so much appreciate you. Bitcoin withdrawals are pretty much instant, Stardew Valley. But others rely on luck, and tycoon games like planet coaster have this. On the SlotsSpot website, we’ve collected all the possible types of modern online free slots games, which developers offer on the market. In the gaming library, you’ll see a detailed menu including the various categories of free slot games. Gamblers can choose any category they’re interested in. In turn, they provide several options: depending on the number of reels, paylines, total bet theme, etc. However, the gambling industry nowadays can offer different types of online slot games: free slots, classic slots, 3D slots, video slots, fruit, penny, and progressive slot machines.
    https://toptohigh.com/using-free-lists-for-internet-marketing/
    Contact Us Welcome to our GratoWin Casino Review. Register here via the banner and collect a 7€ gratis bonus – no deposit required! Plus, get a 100% welcome bonus up to 200 EUR! Players from France are welcome! Contact Us Register at GratoWin Casino now and get a 7€ FREE, bonus without deposit. Use your gratis spins to scratch cards online or play slot games. Contact Us Welcome to our GratoWin Casino Review. Register here via the banner and collect a 7€ gratis bonus – no deposit required! Plus, get a 100% welcome bonus up to 200 EUR! Players from France are welcome! Register at GratoWin Casino now and get a 7€ FREE, bonus without deposit. Use your gratis spins to scratch cards online or play slot games. As with any casino site, we suggest that you take a look over the terms and conditions associated with this casino before you join in on the fun. This way, you can be sure that you are getting all of your bonus!

  46. My brother suggested I would possibly like this website. He was totally right. This submit actually made my day. You cann’t believe just how so much time I had spent for this information! Thank you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *